Cricket Blues

(૨૦૧૬ના T20 વર્લ્ડ કપના સેમીફાઇનલમાં ભારત બહાર ફેંકાઈ ગયું, એ વખતે ભારતને ફાઇનલ મૅચમાં જોવાથી સૂઝેલી હળવી પૅરડી.)

Every Indian fan right now:

मैं और मेरी तन्हाई आज ये बातें करतें हैं,
इंडिया फ़ाइनल में होती तो कैसा होता,
पार्टी शार्टी का प्रोग्राम बनाते,
नो बॉल पे गालियाँ देते,
हर विकेट-छक्के पे गला फाड़ते,
कोहली फिर से इंग्लॅण्ड की वाट लगाता,
धोनी फिर से विनिंग शॉट लगाता,
नेहरा की एडवाइस पे जोक बनाते,
अनुष्का पे फिर से विराट की डाँट खाते,
हम फ़ाइनल में होते तो ऐसा होता,
हम फ़ाइनल में होते तो वैसा होता।

ये फाइनल है, या बोरिंग IPL लगी हुई है,
है सन्डे फिर भी मुर्दा खामोशी छाई हुई है,
ये सोचता हूँ, मैं कबसे गुमसुम,
के जबके मुझको भी ये खबर है, कि इंडिया फ़ाइनल में नहीं है, कहीं नहीं है,
मगर ये दिल कह रहा है, कि हम हैं, यहीं कहीं है!

फ़ाइनल देखने की फॉर्मेलिटी के हालात इधर भी है, उधर भी,
बोरियत की ये रात इधर भी है उधर भी,
भड़ास निकालने को बहोत कुछ है, मगर अब कैसे कहें हम,
स्टेटस पेलते रहें हम, और सेहते रहो तुम,
दिल करता है की दुनिया की हर टीवी टपका दे,
4G और विमल की जो एड है, उसको भी चुप करा दे,
क्यों दिल में सुलगते रहें, फेसबुक पे बता दे,
हाँ, हमको मोहब्बत है, इंडिया से, मोहब्बत
हर किसी के दिल में यही बात, इधर भी है उधर भी।

Copyright © Jayesh Adhyaru. Please do not copy, reproduce this article without my permission. However, you are free to share this URL or the article with due credits.

Advertisements